Monday, January 11, 2010

हिन्दी साहित्य मंच कविता प्रतियोगिता सूचना

हिन्दी साहित्य मंच "चतुर्थ कविता प्रतियोगिता" मार्च माह में आयोजित कर रहा है। इस कविता प्रतियोगिता के लिए किसी विषय का निर्धारण नहीं किया गया है अतः साहित्यप्रेमी स्वइच्छा से किसी भी विषय पर अपनी रचना भेज सकते हैं । रचना आपकी स्वरचित होना अनिवार्य है । आपकी रचना हमें फरवरी माह के अन्तिम दिन तक मिल जानी चाहिए । इसके बाद आयी हुई रचना स्वीकार नहीं की जायेगी ।आप अपनी रचना हमें " यूनिकोड या क्रूर्तिदेव " फांट में ही भेंजें । आप सभी से यह अनुरोध है कि मात्र एक ही रचना हमें कविता प्रतियोगिता हेतु भेजें रचना के साथ-साथ अपना स्थाई पता और फोन नम्बर अवश्य ही संलग्न करें ।

प्रथम द्वितीय एवं तृतीय स्थान पर आने वाली रचना को पुरस्कृत किया जायेगा । दो रचना को सांत्वना पुरस्कार दिया जायेगा ।

प्रथम पुरस्कार - रूपये एक हजार , द्वितीय पुरस्कार - रूपये पांच सौ , तृतीय पुरस्कार - रूपये तीन सौ । साथ ही दो कविता को हिन्दी साहित्य मंच की तरफ से सांत्वना पुरस्कार दिया जायेगा । हिन्दी साहित्य मंच की तरफ से एक प्रशस्ति - पत्र भी प्रदान किया जायेगा ।

सर्वश्रेष्ठ कविता का चयन हमारे निर्णायक मण्डल द्वारा किया जायेगा । जो सभी को मान्य होगा ।आइये इस प्रयास को सफल बनायें । हमारे इस पते पर अपनी रचना भेजें -
hindisahityamanch@gmail.com .आप हमारे इस नं पर संपर्क कर सकते हैं-09891584813,09818837469,
हिन्दी साहित्य मंच एक प्रयास कर रहा है राष्ट्रभाषा " हिन्दी " के लिए । आप सब इस प्रयास में अपनी भागीगारी कर इस प्रयास को सफल बनायें । आइये हमारे साथ हिन्दी साहित्य मंच पर । हिन्दी का एक विरवा लगाये जिससे आने वाले समय में एक हिन्दीभाषी राष्ट्र की कल्पना को साकार रूप दे सकें ।


संचालक
हिन्दी साहित्य मंच
नई दिल्ली

4 comments:

  1. hindi kavita pratiyogita ka pata chala shukriya. aap mere blog per aaye jis se aap tak pahuchne ka raasta mila. apke rev.ka bahut bahut shukriya.

    ReplyDelete
  2. आपको और आपके परिवार को नए साल की हार्दिक शुभकामनायें!
    बहुत बढ़िया लिखा है आपने!

    ReplyDelete
  3. is baar to hum bhi sammilit hone ka man bana rahe hai
    chaliye shubkaamnaye aur badhaayi achhe pryaash ke liye
    saadar
    praveebn pathik
    9971969084

    ReplyDelete
  4. देखते हैं कोई अच्छी बन पड़ी तो .....!!

    ReplyDelete

आपकी राय हमारे लिये महत्तवपूर्ण है । अपनी बात को बेबाकी से कहें ।